Top Letters
recent

आतंकियों के नाम शहीद इम्तियाज मीर के परिवार का खुला ख़त, तुमने उसे मार डाला जो कश्मीर से बेहद प्यार करता था

तुम लोगों ने एक बूढ़ी मां के प्यारे और एक बूढे बाप के आज्ञाकारी बेटे की हत्या की है. तुम लोगों ने एक ऐसे भाई को मार डाला जो अपने भाई और बहन का एक मात्र सहारा था. तुम लोगों ने एक उस लड़की के हर सपने को मार डाला जो शादी करना चाहती थी. तुम लोगों ने उस व्यक्ति की हत्या की जिसके सूफी विचार थे, ऐसा व्यक्ति जो सूफीवाद को खूब पढ़ता था. जो काल मार्क्स और हर अलग विचारधारा को पढ़ता था. तुम लोगों ने उस व्यक्ति की हत्या की जो अपने मास्टर बैच में अव्वल आया. जो अपने एसआई बैच में टॉपरों में एक था. 

इसे भी पढ़ें...
कश्मीर पर ठहर कर सोचने का वक्त है, आखिर हमारी सेना किसके खिलाफ़ लड़ रही है?

सबसे अहम बात कि तुम लोगों ने एक ऐसे शख्स को मार डाला जो कश्मीर और उसके लोगों को बेहद प्यार करता था. जिसकी एक मात्र इच्छा खुशहाल कश्मीर को देखना था. तुमने उस शख्स को मार डाला जो अपने परिवार से मिलना चाहता था, बुजुर्ग मां बाप और व्यथित बहन से मिलना चाहता था. लेकिन तुम लोगों ने जब उसे मारा तो हम लोगों को क्यों नहीं मारा, तुम लोगों ने उसके मां-बाप, बहन,भाई और उस महिला को क्यों नहीं मारा जिसके साथ वह अपनी बाकी जिंदगी बिताना चाहता था. कोई उन्हें कैसे सांत्वना दे सकता है? हम सभी उसके हत्यारों से पूछना चाहते हैं कि तुम लोगों ने हम सभी को क्यों नहीं मार डाला? आओ और हमें भी मार डालो। 
My Letter

My Letter

Powered by Blogger.