Top Letters
recent

Business

videos

मेरा पहला और आखिरी प्रेम पत्र, मौत प्रेमियों की होती है प्रेम की नहीं, आज भी तुम्हारे जवाब का इंतजार है!

प्रिय, हमें प्यार से प्यार करना चाहिए और प्यार से ही उस प्यार को प्राप्त करना चाहिए। यदि हमें पसंद आ गया तो हमें प्यार मिलना ही चाह...
Read More

जात-पात के बंधन से बिना लड़े ही हार मान बैठे एक 'डरपोक' प्रेमी का पहला और आखिरी खत

- राजेश बन्छोर प्रिय पूजा, बहुत कुछ कहना है और कह पाना मुश्किल सा है. शायद यही कारण है कि अभिव्यक्ति के लिए कागज-कलम से बेहतर साधन न...
Read More

प्रेमिका का भावुक ख़त, मैं आपकी हूं यह अहसास ही काफी है, प्लीज मुझे माफ कर देना !

-  राजेश बन्छोर प्रिय राज, मुझे खुद को नहीं मालूम कि मैं कैसी लड़की हूं. मैं आपके दोस्ती के काबिल नहीं, फिर भी आप मुझे अपना दो...
Read More

ब्वॉयफ्रेंड के नाम लव लेटर, मुझे नहीं पता कि ज़िन्दगी में आगे क्या होगा !

-आयशा मुखर्जी डियर राहुल, जब से तुम मेरी ज़िन्दगी में आये हो मेरी life काफी interesting हो गयी है. तुमने अब तक हर बुरी या अच्छी ...
Read More

रूठी हुई प्रेमिका को आखिरी खत, नहीं पता तुम क्यों खफा हो, पर इस बार तुम्हें मनाने नहीं आऊंगा

- दिलीप तिवारी प्रिये, मैं जब, हमारे मन मिलन के मंदिर में आया तो तुम्हें ना पाकर मेरी आँखें उदासी के समुन्दर में डूब गईं....ना...
Read More

'अरे नीतीश जी, कम से कम आपदा में अवसर खोजना तो सीख लीजिए हमसे !'

- ध्रुव गुप्त 'का हो मोदी जी महाराज, आपको सिक्किम, लद्दाख सब याद रहता है, हमारे बिहारे को भुला जाते हैं ?' 'क्या हुआ,...
Read More

झूठ का हथौड़ा बदस्तूर बरस रहा है, जो लोग बना नहीं सकते, वे मिटाने में लग जाते हैं !

- मनीष सिंह क्या होगा, अगर कोई व्हाट्सएप आये और बताये की "श्रीराम असल मे रावण से नेगोशिएट करके सीता को लंका में छोड़ देने को ...
Read More

रवीश कुमार के सवाल 'कौन जात हो?' पूछने पर गुस्सा किसको आता है?

- श्याम मीरा सिंह रवीश कुमार द्वारा "जाति" पूछने के सवाल पर अक्सर कइयों को आपत्ति जताते हुए देखा है। कइयों लोग इसी आधार...
Read More

मोहब्बत का पैगाम, नारायण साईं के नाम: कान्हा आप तो मेरे रोम-रोम में बस गए हो

प्रियतम,  आप तो मेरे अंतर की एक-एक बात जानते हो, हृदयेश्वर आपसे क्या छिपा है? मेरे हृदय की अंत:स्थल की एक ही वासना है कि मैं सदा सर्वद...
Read More

आखिरी प्रेम पत्र : धन्यवाद मुझे उस समय छोड़ने के लिए जब मुझे तुम्हारी जरूरत थी

- गीतांजलि शर्मा प्रिय दीपक, तुम गये तो थे लौटने के वादे के साथ, और तुम लौटे भी, पर अब तुम मेरे नही रहे. मैंने भी तुम्हारा हर पल ...
Read More

सबके सामने इतना बड़ा अपमान ! उस दिन से पिताजी हमारी नज़रों से गिर गए

- चारू  मैं अपने पिता से बहुत प्यार करती थी...उन्होंने हमें ईमानदार रहना सिखाया था, अंधविश्वास से दूर रहना सिखाया था, अपनी नज़र ...
Read More

बेटे के नाम यह आखिरी ख़त लिखने के बाद उस बुजुर्ग पिता ने खुद को गोली मार ली

लखनऊ के एक उच्चवर्गीय बूढ़े पिता ने अपने पुत्रों के नाम एक चिट्ठी लिखकर खुद को गोली मार ली।  चिट्टी क्यों लिखी और क्या लिखा। यह जानन...
Read More

सुशांत की खुदकुशी पर विवेक ओबेरॉय का खुला खत, शायद हम लोग तुम्हें डिजर्व ही नहीं करते थे

आज सुशांत के अंतिम संस्कार में शामिल होते हुए बहुत तकलीफ हो रही थी. मैं सच में ये दुआ करता हूं कि काश मैं उसके साथ अपना पर्सनल एक्सपीरि...
Read More

पीएम मोदी के नाम एक 'देशभक्त' की चिट्ठी, गरिमा और लिहाज का दामन तो मत छोड़िए

- आर. देवेंद्र शांडिल्य प्रधानमंत्री जी , आप बहुत खुशनसीब हैं. खुशनसीब यूं कि आप बहुत तेज़ दिमाग़ के हैं और राजनीति में फिलहाल आपके दुश्म...
Read More

बंद हो चुके टेलीग्राम के नाम ख़त, अलविदा खलनायक ! उम्मीद है, फिर कभी नहीं मिलेंगे

-धर्मेन्द्र मोहन पंत टेलीग्राम! तुझे तो जाना ही था। खलनायक कभी जिंदा नहीं रहता। एक दिन उसे जाना होता है। अब डर भी नहीं लगता है तुझसे ल...
Read More

आम आदमी के नाम खुला ख़त, अपनी खैर मनाना बंद कीजिए, मोदी है तो कुछ भी मुमकिन है!

- विष्णु नागर प्रिय आम आदमी, कल आप किसी भी तरह के किसी भी आरोप में गिरफ्तार किए जा सकते हैं। आप पर यह आरोप भी लग सकता है कि आप मंदिर ...
Read More
Powered by Blogger.